वास्तु के अनुसार प्लॉट

Plot According To Vastu


वास्तु में प्लॉट खरीदते समय कुछ सिद्धांतों का पालन करने से सुख-समृद्धि व शांति मिलती है, भूमि खरीदते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए | पृष्ठ के आधार पर भूमि परीक्षण मे 26 प्रकार के पृष्ठ अर्थात सरफेस पाये जाते हैं, परंतु 4 पृष्ठ माननीय हैं :

गज पृष्ठ का प्लॉट


गज पृष्ठ वो भूमि है जो वायव्य अर्थात उत्तर-पश्चिम नैऋत्य (दक्षिण-पश्चिम) मे ऊंची हो और ईशान(उत्तर-पूर्व) मे नीची हो | इसमें निवास करने वाला सुखी, विद्वान और धन-धान्य से समृद्धिशील होता है



दैत्य पृष्ठ का प्लॉट


ऐसी भूमि पर निवास करने वाला व्यक्ति कभी सुखी नही रहता है | गृह स्वामी दिन व दिन दरिद्र होता रहता है | यह भूमि धन नाश और शिशु नाश करती है |



कच्छप पृष्ठ का प्लॉट


कछुए की पीठ की तरह बीच मे ऊंचा और चरो तरफ ढाल, इसमे निवास करने वाला व्यक्ति दीर्धजीवी, कार्य के प्रति अनुरागी, सुखी और समृद्धशाली होता है |



नाग पृष्ठ का प्लॉट


ईशान, अग्नि, वायव्य, नैऋत्य की तुलना मे शेष चार दिशाए ऊपर नीचे हो तो नाग पृष्ठ भूमि कहलाती है | इसका निवासी शत्रु भय से पीड़ित रहता है |

Post a Comment

और नया पुराने