चोर पकड़ने का मंत्र | चोर को पकड़ने का मंत्र | चोर पकड़ने का टोटका | कुश्ती विजय करने का मंत्र | कुश्ती जीतने का मंत्र | अदालत में मुकदमा जीतने का मंत्र | मुकदमा जीतने का मंत्र | Chor Pakadne Ka Mantra | Kushti Jitne Ka Mantra | Mukadma Jitne Ka Mantra



चोर पकड़ने का मंत्र | चोर को पकड़ने का मंत्र | चोर पकड़ने का टोटका | Chor Pakadne Ka Mantra


ॐ नमो इन्द्राग्नि बन्य बान्धाय स्वाहा ।।

प्रयोग विधि : इस मन्त्र को भोजपत्र पर लिखकर सफेद मुर्गा के गले में बाँध कर मुर्गा को किसी बड़े टोकरे के नीचे बन्द कर दे, फिर जिन आदमियों पर चोर होने का शक होवे उन लोगों का हाथ टोकरे पर धरावे तो जब चोर टोकरे पर हाथ धरेगा तब मुर्गा बोल पड़ेगा और चोर मिल जायेगा ।


कुश्ती विजय करने का मंत्र | कुश्ती जीतने का मंत्र | Kushti Jitne Ka Mantra


ॐ नमो आदेश कामरू कामाक्षा देवी अङ्ग पहरु भुजंगा
पहरु लोहे शरीर आवत हाथ तोडूॅ पांव तोडूं सहाय हनुमन्त
वीर उठ अब नृसिंह वीर तेरो सोलह सौ श्रृंगार मेरी पीठ
लगे नाहीं तो वीर हनुमन्त लजाने तू लेहु पूजा पान सुपारी
नारियल सिन्दूर अपनी देहु सबल मोही पर देहु भक्ति गुरु
की शक्ति फुरो मन्त्र ईश्वरो वाचा ।।

इस मन्त्र को किसी भी मंगलवार से जाप प्रारम्भ करे और चालीस दिन तक नित्य गेरू का चौका लगा लाल लंगोटा पहन हनुमान जी की मूर्ति के सन्मुख रखकर लड्डू का भोग लगा १०८ बार जप करे तो दंगल में शत्रु से अवश्य जीते ।


अदालत में मुकदमा जीतने का मंत्र | मुकदमा जीतने का मंत्र | Mukadma Jitne Ka Mantra


ॐ क्रां क्रां क्रां धूम्रसारी बदाक्षं विजयति जयति ओं स्वाहा ।

प्रयोग विधि : जिस त्रयोदशी को पुनर्वसु नक्षत्र पड़े तब सुरही के चर्मासन पर किसी सरिता के निकट मूंगे की माला जपे तो यह मंत्र सिद्धि हो और जब प्रयोग करना हो तो सात बार मन्त्र पढ़ हाकिम के सन्मुख जाने से मुकदमे में विजय अवश्य प्राप्त होती है ।

Post a Comment

और नया पुराने

LISTEN ON "SUNTERAHO.COM" :

LISTEN ON "SUNTERAHO.COM" :