रमल विद्या | दोनों पासो मे दो-दो का आना | Ramal Vidya Kya Hai | Ramal Vidya Kaise Sikhe

रमल विद्या | दोनों पासो मे दो-दो का आना | Ramal Vidya Kya Hai

रमल विद्या | दोनों पासो मे दो-दो का आना


१ जहां हिम्मत और दिलेरी की जरूरत हो ।

२ हां। अगर आपका प्यार सच्चा है ।

३ खतरा हर समय आपके साथ है, लेकिन कोई बड़ा खतरा नहीं है ।

४ कमरों के बीच के गलियारे अथवा अभिलेखों के बीच ढूंढें ।

५ हां, अगर आप बिना समय गंवाए काम शुरू कर दें तो ।

६ बिल्कुल अन्त में ।

७ कोई व्यक्तिगत मसला, भय, बीमारी या क्रोध।

८ विश्वास उस व्यक्ति पर करें जिसकी विश्वसनीयता को आप जांच चुके हों।

९ कम से कम तीन महीने तक नहीं ।

१० अभी नहीं, शायद बाद में सम्भव हो ।

११ सिर्फ अपने लाभ के लिए ही ।

१२ व्यक्ति-विशेष के प्रति आपके विचार सत्य हैं-सिवाय कुछ छोटी-मोटी बातों के ।

१३ पूरे पैसे की उम्मीद न करें–आंशिक रूप से ही आपका धन वापस मिल सकेगा ।

१४ आमदनी बढ़ेगी-और उसी अनुपात में खर्च भी ।

१५ हां । पूर्णमासी को ।

१६ अपने मित्र की प्रतीक्षा करें । आगमन से पूर्व समाचार नहीं मिलेगा ।

१७ जोखिम भरे रोमांचकारी अवसर कम हैं। ये अवसर ऐसे समय पर आयेंगे जब आप उन्हें नहीं चाहते ।

१८ तब तक राज नहीं खुलेगा जब तक वह नुकसानदेह साबित न हो सकता हो ।

१९ हां । शायद बहुत जल्दी ही ।

२० शायद, लेकिन आपकी जल्दबाजी बाधक बनेगी ।

२१ कठिन समय, लेकिन अगर धैर्य बनायें रखें तो खुशियां ।

२२ उस व्यक्ति पर, जो बुद्धिमान होने के साथ-साथ प्रसन्न भी रहता हो ।

२३ सिर्फ एक, जिसे आप एक लम्बे अर्से तक भूल नहीं पायेंगे ।

२४ एक सन्देश, जो एक लम्बे समय से प्रतीक्षित था।

२५ धैर्य रखें, उतावले न हों ।

२६ जब आप उम्मीद छोड़ देंगे ।

२७ घर से बाहर की दुनिया में ।

२८ शरद् काल और जाड़े का आरम्भ ।

२९ अपने खर्चीलेपन पर नियन्त्रण करें, अन्यथा नहीं।

३० आपको यात्रा में बहुत अधिक धन की प्राप्ति होगी ।

रमल विद्या | दोनों पासो मे दो-तीन का आना


१ सहकारिता के दम पर किये जाने वाले व्यावसायिक उद्यम अथवा पार्टनरशिप के धन्धे में ।

२ जैसे-जैसे समय बीतता जायेगा, आपका सुख और आनन्द बढ़ता जायेगा |

३ बहुत कम । जो आयेगा भी, तो गम्भीर नहीं होगा ।

४ किसी आलमारी के खाने, रैक अथवा कोठरी में ढूंढ़ें ।

५ नहीं । जल्दबाजी में लिये गये निर्णय सदैव हानिकारक और घातक होते हैं ।

७ कोई यात्रा, समाचार, निकट का कोई सम्बन्धी, गहरा मित्र ।

इसे भी पढ़े :   शंकु आकार का हाथ | Type of Hand - 5

८ वह व्यक्ति, जिसे आप बहुत लम्बे अर्से से जानते हैं।

९ अगर आपकी आमदनी में तुरन्त कोई वृद्धि होती दिखती है तो परिवर्तन न करें ।

१० इस बाबत सही जानकारी आपको सम्बन्धित व्यक्ति से सम्पर्क करने के बाद ही मिल सकेगी ।

११ अगले दो वर्षों तक नहीं ।

१२ कुछेक को छोड़कर शेष सभी सत्य हैं ।

१३ देर लगेगी । लगातार मांगते रहें । दिया हुआ धन तभी वापस मिलेगा ।

१४ अच्छी प्रगति का समय ।

१५ जब तक आपको अगली कोई सूचना या पत्र नहीं मिलता अथवा उपहार देने वाले व्यक्ति से आपकी भेंट नहीं होती, तब तक नहीं।

१६ जब भी उसे आपकी सहायता की जरूरत होगी, तभी जानकारी मिलेगी ।

१७ जब तक आप स्वयं नहीं चाहेंगे, तब तक नहीं ।

१८ अगर आप स्वयं रक्षा करेंगे तो राज नहीं खुलेगा ।

१९ यात्रा तब तक नहीं होगी जब तक आप उस यात्रा के लिए कोई नया कारण नहीं ढूंढ़ लेते ।

२० आपकी महत्त्वाकांक्षा, बिना अप्रत्याशित सहयोग पाये हुये, नहीं पूरी होगी ।

२१ धन-सम्पत्ति के बीच जीवन की वास्तविक खुशियां सन्दिग्ध हैं ।

२२ वह व्यक्ति, जिससे आप किसी पुराने मित्र के जरिये परिचित हुये हों ।

२३ कम अवधि के तीन या चार ।

२४ किसी पुराने मित्र का एहसान ।

२५ पंखों के खूबसूरत होने का अर्थ यह नहीं होता कि चिड़िया भी खूबसूरत ही होगी ।

२६ किसी की शादी से ठीक पहले ।

२७ किसी एकान्त और शान्त स्थल पर ।

२८ गहरी निराशा के बाद तीसरा सप्ताह ।

२९ अवसर आपको मिलेगा बशर्ते आप उस मौके को पकड़ सकें ।

३० स्थायी रूप से गृह-परिवर्तन के निमित्त ही यात्रा करनी पड़ेगी

रमल विद्या | दोनों पासो मे दो-चार का आना


१ किसी पुराने ओर सुस्थापित व्यवसाय मे |

२ नही |

३ अगर जानबूझकर खतरा मोल न लें तो कोई नहीं ।

४ किसी शेल्फ (आलमारी का खाना), सन्दूक, मेज की ड्रार अथवा ऐसे ही किसी स्थान पर ।

५ अगर आपका उद्यम अच्छी तरह से स्थापित किया हुआ नहीं है तो असफलता ।

६ इच्छा की पूर्ति में बहुत कम समय बचा है। उतावले न हों

७ प्राच्यकालीन अथवा विदेशी वस्तुयें, कुछ दृश्य, घटनायें, जीवन-दर्शन।

८ वह व्यक्ति, जो आपकी वर्तमान योजनाओं में साथ दे रहा हो ।

९ मत करें।

१० अगर आपकी पसन्द-नापसन्द एक-सी है तभी, अन्यथा नहीं ।

११ अपनी तरफ से बखेड़ा न खड़ा करें ।

१२ सच तो है, परन्तु उनमें आलोचना का अंश बहुत ज्यादा है ।

१३ रसीद के अभाव में नहीं ।

१४ आपकी रुचियों में परिवर्तन आयेगा-नयी दिशा। लाभ कम ।

१५ उपहार के साथ पत्र भी ।

१६ बहुत जल्द आपको कोई सन्देश मिलने वाला है ।

१७ नहीं । टालने का प्रयास करें ।

१८ आप छिपा न सकेंगे ।

१९ आपकी योजना के मुताबिक ही यात्रा होगी ।

२० कोई अप्रत्याशित दुर्भाग्य ही उसे रोक सकेगा ।

२१ कोई परिवर्तन, नये क्षेत्र, नयी रुचियां, जिनके अनुरूप अपने को ढालना होगा ।

इसे भी पढ़े :   प्लेइंग कार्ड सूट | कार्ड के सूट | ताश के सूट कार्ड पत्ते | Details of Suit Card

२२ वह व्यक्ति (स्त्री/पुरुष), जो आपसे आपकी परेशानियों में मिला हो ।

२३ जो अवसर थे, निकल गये । अब नहीं ।

२४ एक अच्छा समय, जिसमें आपको उपलब्धि भी सम्भव है ।

२५ समय किसी का इन्तजार नहीं करता ।

२६ जब उसे घर से पत्र मिलेगा ।

२७ किसी नये धन्धे या व्यवसाय में ।

२८ छुट्टियों के बाद का दूसरा सप्ताह ।

२९ सम्भवतः नहीं; लेकिन अगर आप हासिल कर सके तो बहुत ज्यादा ।

३० यात्रा तभी करें जब बेहद जरूरी हो |

रमल विद्या | दोनों पासो मे दो-पाँच का आना


१ किसी खास, अति विशिष्ट व्यवसाय में ।

२ यदि उनमें अन्तर रहेगा-तमी, अन्यथा नहीं ।

३ बहुत अधिक, लेकिन सभी एक ही स्रोत से।

४ पानी के करीब अथवा किसी यात्रा के माध्यम से ।

५ सफलता नहीं मिलेगी ।

६ गहरी निराशा के बाद ही ।

७ चल-अचल सम्पति, आय का स्रोत और पैसा ।

८ कोई भी विश्वास-योग्य नहीं है। किसी भी मित्र पर पूरी तरह अन्धा विश्वास मत करे

९ वर्तमान धन्धा छोड़कर दूसरा व्यवसाय या धन्ध में जाने का अर्थ होगा-कोई बहुत बड़ी सफलता । असफलता भी दिखती है । कुछ समय तक रुके रहें ।

१० नहीं । मूल जायें । जीवन में दूसरे लोग भी मिलेंगे ।

११ कानूनीगढ़ी से सावधान, सचेत रहें, अन्यथा पछतायेंगे ।

१२ सिर्फ आर्थिक मामलों तथा पैसे के मसले को छोड़कर ।

१३ या तो अगले महीने में, या फिर कभी नहीं ।

१४ कम महत्व की कोई नयी दिशा-नया कार्य-क्षेत्र ।

१५ जब आपकी उम्मीद समाप्तप्राय होगी ।

१६ सबसे पहले बीच की गलतफहमी को दूर करें ।

१७ चाहत से कहीं ज्यादा ।

१८ अपने घनिष्ठतम मित्र को अगर आप मना कर दें तो नहीं खुलेगा ।

१९ आप नहीं, आपके स्थान पर कोई दूसरा व्यक्ति चला जायेगा ।

२० नहीं । आपकी सोच के स्तर से बहुत कम ।

२१ या तो बहुत सुख, अन्यथा तलाक ।

२२ ऐसा व्यक्ति, जो आपकी बहुत सेवा करेगा ।

२३ मूलतः यह पूरी तरह आपके ऊपर निर्भर है ।

२४ संशय, शंका और सन्देह से परिपूर्ण किसी नये व्यक्ति से परिचय या मुलाकात ।

२५ समय का चक्र किसी की प्रतीक्षा नहीं करता |

२६ बादलों से भरी किसी रात में ।

२७ जोश और उत्तेजना के माहौल में ।

२८ वसन्त ऋतु का पहला सप्ताह ।

२९ जब तक दूसरों के लिए काम करते रहेंगे, तब तक नहीं मिलेगी ।

३० यात्रा आनन्दप्रद तो होगी, पर लाभ नहीं होगा ।

रमल विद्या | दोनों पासो मे दो-छह का आना


१ वह कार्य करें, जिसमें कार्य सम्पादन हेतु प्रबन्ध निर्देशों की आवश्यकता पडती हो ।

२ आपका रुख तटस्थ अथवा उदासीनता से युक्त रहेगा ।

३ अभी नहीं ।

४ किसी ने आपकी गुम चीज पड़ी पायी है। वापसी बहुत मुश्किल है ।

५ सफलता के लिए किसी खास तरह के उद्यमी व्यक्ति की जरूरत होगी ।

इसे भी पढ़े :   रत्नों का चुनाव कैसे करे | राशि रत्न | मणि How to Choose Gems | Rashi Ratna

६ जब तक आप उस तरफ से ध्यान नहीं हटा लेंगे, तब तक नहीं।

७ सट्टा, धन की प्राप्ति, बच्चा, स्कूल और अध्ययन ।

८ जो सबसे अधिक सन्देहास्पद हो ।

९ अगर घर बदलने की नौबत आती है तो व्यवसाय में परिवर्तन मत करें ।

१० जिस व्यक्ति से आप प्रेम करते हैं, वह व्यक्ति आपके प्रेम की बाबत कुछ नहीं जानता ।

११ कानूनी झगड़े या विवाद आपके भावी जीवन में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभायेंगे ।

१२ अगर दूसरे लोग उन विचारों या धारणा को स्वीकार नहीं करते तो आप गलत हैं ।

१३ हां, बहुत जल्दी ।

१४ थोड़े-से अहसान और छोटी-छोटी परेशानियां, नीचता ।

१५ उपयुक्त समय आने पर ।

१६ किसी सामाजिक उत्सव या समारोह में आपकी भेंट उस मित्र से हो जायेगी।

१७ केवल तभी, जब आप अजनबी लोगों के साथ यात्रा करेंगे ।

१८ किसी बच्चे के द्वारा, जो उसे जाहिर न कर सकता हो

१९ हां, उस व्यक्ति के साथ, जिसके साथ की उम्मीद भी आपको नहीं होगी।

२० आज से सात साल; अन्यथा कभी नहीं ।

२१ नये मित्रों का नया दायरा ।

२२ वह व्यक्ति जो लम्बा, खेलों में गहरी रुचि रखने वाला (एथलीट) हो और प्रतिभाशाली हो।

२३ सिर्फ एक-वह भी आपके लिए मुसीबतें देगा ।

२४ एक ऐसी अप्रत्याशित मांग, जिसे पूरा करना ही होगा ।

२५ नौ नकद, न तेरह उधार ।

२६ गया हुआ आदमी वापसी के रास्ते में है। शीघ्र ही पहुंचेगा।

२७ गुलाब के बगीचे में।

२८ साल के पहले सौ दिन।

२९ जब तक आप लखपति नहीं होते, तब तक नहीं।

३० जल-मार्ग को छोड़कर अन्य मार्गों से यात्रा कर सकते हैं।

पासों से भविष्य बताने की विधि[छुपाएँ]
पासों से भविष्य बताने की विधि
दोनों पासो मे एक-एक का आना दोनों पासो मे एक-दो का आना
दोनों पासो मे एक-तीन का आना दोनों पासो मे एक-चार का आना
दोनों पासो मे एक-पाँच का आना दोनों पासो मे एक-छह का आना
दोनों पासो मे दो-दो का आना दोनों पासो मे दो-तीन का आना
दोनों पासो मे दो-चार का आना दोनों पासो मे दो-पाँच का आना
दोनों पासो मे दो-छह का आना दोनों पासो मे तीन-तीन का आना
दोनों पासो मे तीन-चार का आना दोनों पासो मे तीन-पाँच का आना
दोनों पासो मे तीन-छह का आना दोनों पासो मे चार-चार का आना
दोनों पासो मे चार-पाँच का आना दोनों पासो मे चार-छह का आना
दोनों पासो मे पाँच-पाँच का आना दोनों पासो मे पाँच-छह का आना
दोनों पासो मे छह-छह का आना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *